Display bannar

Breaking News

राष्ट्र हमेशा ही सियाचिन के जाबांज सैनिक को याद रखेगा :राष्ट्रपति


नयी दिल्ली : राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने आज लांस नायक हनुमनथप्पा कोप्पड की मृत्यु पर शोक प्रकट किया और कहा कि राष्ट्र उनकी बहादुरी और अदम्य साहस को हमेशा ही याद रखेगा। राष्ट्रपति ने उनकी मां बासम्मा कोप्पड को एक संदेश में कहा, ‘‘आपके बेटे लांस नायक हनुमनथप्पा कोप्पड के गुजरने के बारे में जानकर मैं बहुत दुखी हूं। लांस नायक कोप्पड एक नायक थे जिन्होंने प्रतिकूल स्थिति में असाधारण दृढ़ शक्ति और साहस दिखाया। उन्होंने कर्तव्य निभाते हुए सर्वोच्च बलिदान दिया।’’ मुखर्जी ने कहा, ‘‘शोक की इस घड़ी में समूचे राष्ट्र की सहानुभूति और संवेदना आपके परिवार और आपके साथ है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘उनकी बहादुरी और अदम्य साहस को लेकर राष्ट्र हमेशा ही लांस नायक हनुमनथप्पा को याद रखेगा।’’ 

          हनुमनथप्पा की आज यहां आर्मी रिसर्च एंड रेफरल हॉस्पिटल में मृत्यु हो गई। तीन दिन पहले उन्हें बर्फ के ढेर के नीचे से जीवित निकाला गया था जो किसी चमत्कार से कम नहीं था। सियाचिन ग्लेशियर में हुए हिमस्खलन के बाद वह बर्फ के काफी नीचे दब गए थे। मुखर्जी ने कहा, ‘‘कृपया मेरी संवेदना को स्वीकार करें और उससे अपने परिवार के लोगों को अवगत कराएं। मैं ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि आपको और आपके परिवार को इस अपूर्णीय क्षति को सहने के लिए मजबूती और साहस दे।’’

No comments