Display bannar

Breaking News

करवा चौथ पर अपने चाँद के दीदार को गाजियाबाद से आगरा पहुंची युवती



आगरा: करवा चौथ के मौके पर जहां विवाहिता पूरे दिन निर्जला व्रत रखकर अपने पति की दीर्घायु की कामना कर रही है, वहीं एक ऐसी भी पत्नी है जो हाथों में मेहंदी और मांग में सिंदूर लगाए पुलिस अधिकारियों के दफ्तरों के चक्कर काट रही है। महिला रो-रोकर अधिकारियों से पति से मिलाकर करवाचौथ का व्रत पूरा करवाने की गुहार लगा रही है। पीड़ित महिला का कहना है कि उसने पति के लिए करवा चौथ का व्रत रखा है। ऐसे में यदि उसकी पति से मुलाकात नहीं हुई तो वह कैसे व्रत तोड़ेगी।

क्या है मामला?
-मूल रूप से मोदीनगर, गाजियाबाद की रहने वाली कामना की शादी 2013 में संजय पांचाल से हुई थी।
-संजय से कामना को एक बेटा हुआ। दोनों का जीवन सुखमय चल रहा था।
-अचानक एक एक्सिडेंट में संजय को गंभीर चोटें आईं और वो बिस्तर पर रहने लगा।
-एक दौर वो भी आया जब कामना का परिवार आर्थिक तंगी से गुजरने लगा।
-इस दौरान कामना ने परिवार की जिम्मेदारी संभाली और गाजियाबाद में एक इन्वर्टर कंपनी में नौकरी करनी शुरू कर दी।

ऐसे आई मयंक के झांसे में
नौकरी के दौरान कामना की मुलाकात आगरा के मयंक सोनी से हुई। इसी बीच 2014 में कामना के पति का देहांत हो गया। अकेलापन झेल रही कामना को मयंक ने प्रेमजाल में फंसा लिया और शारीरिक संबंध बनाए। कामना के जोर देने पर मयंक ने उससे शादी कर ली। फिर तहसील से शादी का रजिस्ट्रेशन भी कराया।

मयंक ने भेजा नोटिस
कामना के अनुसार मयंक ने उसे गाजियाबाद में किराए का फ्लैट दिलाया। वह वहां आता-जाता रहता था। शादी के बाद परिजन भी निश्चिंत थे। कामना का जीवन एक बार फिर ठीक-ठाक चलने लगा था। तभी अचानक 5 मार्च को कामना को कोर्ट का नोटिस मिला। जिसमें कहा गया था कि वह मयंक की पत्नी नहीं है, जबरन उसे पति बता रही है।


मयंक ने की मार-पीट
नोटिस मिलते ही कामना के पैरों के नीचे से जमीन खिसक गई। कामना ने मयंक से बात करने की कोशिश की तो उसने बात से मना कर दिया और फोन उठाना भी छोड़ दिया। कामना ने बताया एक बार वो आगरा आकर मयंक के ऑफिस भी गई। इस दौरान मयंक ने उससे बहस और मारपीट भी की।

परिजनों ने भी छोड़ा साथ
कामना ने बताया की मयंक इस समय आगरा की एक कंपनी में बतौर इंजीनियर काम कर रहा है। वह आगरा में ही रह रहा है। उसके यहां भी कई लड़कियों से संबंध हैं। इस समय कामना एक ब्यूटी पार्लर में काम कर अपना जीवन चला रही है। इस घटना के बाद परिजनों ने भी उसका साथ छोड़ दिया।

पुलिस अधिकारियों से लगाई गुहार
बुधवार को कामना पहले एसपी सिटी सुशिल धुले के पास पहुंची। वो नहीं मिले। फिर आईजी सुजीत पांडे से मुलाक़ात की। आईजी ने उसे उचित कार्यवाही का आश्वासन दिया है।

न्याय का इंतजार
कामना ने बताया की कल रात 12 बजे से वो व्रत पर है। अगर उसकी पति से मुलाक़ात नहीं हुई तो वो क्या करेगी। कैसे व्रत तोड़ेगी। फिलहाल कामना को सिर्फ आश्वासन ही मिला है। अब देखना है क्या उसे न्याय मिल पायेगा या नहीं।

No comments