Display bannar

Breaking News

माँ को पागलखाने मे बिजली के 14 करंट लगवाने के बाद भी ना आई दया... पढे ये दर्दनाक किस्सा

पीड़ित माँ नीलम मिश्रा व पिता मुन्ना लाल मिश्रा 
  • कलयुगी बहू-बेटो ने जायदाद अपने नाम कर माँ-बाप को घर से निकाला 
  • पहले माँ को पागलखाने मे बिजली के 14 करंट लगवाए 
  • बहन को भी बदचलन होने का आरोप लगा कर घर से निकाला 
आगरा : ताज नगरी के रामलाल वृद्धाश्रम एक ऐसा मामला आया जिसे सुनकर आपकी रूह काप जाएगी की कोई एकलोता बेटा-बहू इतना भी निर्दयी हो सकता है| जिसके पैदा होने लिए न जाने कहाँ-कहाँ न मंदिर- मस्जिद मे दुआ मांगी हो| दयालबाग निवासी कमला नगर मैन मार्केट के स्वामी मुन्ना लाल मिश्रा के ही इकलोते बेटे अलंकार मिश्रा ने उनके साथ धोखे से मार्केट को अपने नाम करा कर उसे बेच दिया और अपनी माँ नीलम मिश्रा को पागल साबित कर उनके नाम आवास विकास कॉलोनी मे दो मकानो को भी हड़पने की नियत से पगलखाने मे भर्ती करा कर बिजली के 14 शॉर्ट लगवा कर मानसिक रूप से कमजोर कर अपने नाम करा लिया | 

करीब 2 महीने पगलखाने मे रखने के बाद जब वो घर वापस आई तो बतौर दयालबाग के एक स्कूल मे शिक्षिका है बहू नेहा मिश्रा ने सास ससुर की सेवा की जगह गाली-गलौज करना शुरू कर दिया| इससे तनाव मे आने की वजह से फिर से उन्हे बीमारी की हालत मे उनके पति ने उन्हे एस0 एन0 मेडिकल मे इलाज करवाया| इस दौरान बेटा-बहू मे से कोई भी माँ को देखने नहीं आया| जब माँ-बाप घर पहुंचे तो पड़ोसियो ने बताया की बेटे ने अपनी ही बहन को मौहल्ले मे बदचलन साबित कर घर से निकाल दिया है और उसे उसकी बड़ी बहन अपने घर ले गयी है| जब दो दिन तक उन्हे खाने को खाना नहीं दिया तो उन्होने अपनी पीढ़ा पड़ोसियो को बताई तो उन्होने वृद्ध दंपति को रामलाल आश्रम मे शरण लेने की सलाह दी और वो आश्रम मे रोते हुए पहुंचे| 

No comments