Display bannar

Breaking News

त्वचा की झुर्रिया, मस्से और टेटू सिर्फ पांच मिनिट में हो जाएंगे दूर... देखे विडियो

आगरा : खांसने पर यूरिन लीक होता है, उम्र बढने के बाद वैवाहिक संबंधों में दरार आ रही है। अब महिलाओं की इन समस्याओं का इलाज सर्जरी (चीर फाड़ के बिना) के बिना हो सकेगा। ग्लोबल रेनबो हेल्थकेयर में महिलाओं की समस्याओं पर विशेषज्ञों ने चर्चा की। सीओटू लेजर टेक्नोलॉजी से बिना सर्जरी के इलाज की जानकारी दी गई।
आगरा ऑब्स एंड गायनिक सोसायटी द्वारा रेनबो हॉस्पीटल में आयोजित कार्यशाला में डॉ. नरेन्द्र मल्होत्रा ने बताया कि स्ट्रेस यूरिनरी इनकॉटिनेंस (एसयूआई) खांसी और छींकने के दौरान यूरिन लीक होना आम समस्या है। लेकिन महिलाएं शर्म के कारण इसे छिपाती हैं। इससे यूरिनरी इन्फेक्शन होने लगते हैं।
समस्या का कारण हार्मोन में बदलाव, वजन और उम्र बढने से वैजाइनल वॉल डैमेज हो जाता है। इसी तरह से महिलाओं के वैजाइना में लचीलापन आ जाने से संबंध बनाने में समस्या आती है। इसके साथ ही पोस्ट डिलीवरी, पोस्ट मीनोपॉज भी महिलाओं में समस्या आती है। इसके इलाज के लिए एल्मा लेजर द्वारा फेमिलिफ्ट लांच किया गया है। यूरोगायनेकॉलोजिस्ट डॉ रोनेन गोल्ड, इजरायल ने बताया कि फेमिलिफ्ट सीओ टू लेजर टेक्नोलॉजी से काम करता है, इससे वैजाइनल टिश्यू हीट किए जाते हैं, इससे नए कॉलेजन बनने लगते हैं। वैजाइन की स्ट्रेंथ बढ जाती है और इम्युनिटी रेसिस्टेंस बढ जाती है। इससे एसयूआई और संबंध बनाने में आ रही समस्या का सर्जरी के बिना इलाज हो सकता है। कार्यक्रम का शुभारम्भ अतिथियों ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। संचालन डॉ. मनप्रीत शर्मा व डॉ. वंदना सिंघल ने किया।


ये रहे मौजूद 
एजीओएस की अध्यक्ष डॉ. सुधा बसंल, सोमेन दत्ता, इयल बचविंद्र, डॉ. एमएस अग्रवाल, डॉ. लीला व्यास, डॉ. मधु राजपाल, डॉ. संतोष सिंघल, डॉ. प्रकाश वीर, डॉ. संतोष सिंघल, राकेश आहूजा


74 फीसद महिलाओं को एसयूआई 

विशेषज्ञों ने बताया कि भारत में 74 फीसद महिलाओं को एसयूआई की समस्या है, 40 की उम्र के बाद यह समस्या होती है। जिन महिलाओं के दो से ज्यादा बच्चे हैं, बीएमआई 25 से अधिक है, डायबिटीज और अस्थमा है, अत्यधिक चाय पीने के साथ तंबाकू का सेवन करती हैं तो उन्हें समस्या ज्यादा होती है। नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे रिपोर्ट 2015 -16 के अनुसार यूपी की 25 फीसद महिलाओं की शादी 18 साल की उम्र में हो जाती है। अधिकांश के तीन बच्चे हैं। इसमें से 90 फीसद सामान्य प्रसव होते हैं, इससे भी महिलाओं को एसयूआई की समस्या बढ रही है।

50 की उम्र में नजर आएंगी 35 की
आगरा। सीओटू लेजर तकनीक से मस्से, टेटू, चेहरे की छुर्रियां भी मात्र 5 मिनिट में गायब हो जाएंगी। यानि 50 की उम्र में आप 35 की नजर आएंगी। वह भी कोई सर्जरी कराए बिना पेनलेस ट्रीटमेंस द्वारा। 

No comments