Display bannar

Breaking News

मोदी सरकार की नीतियो से खुश नहीं 'धरती के भगवान'.... जाने क्यो

खबर : अंशु पारीख, आगरा 
आगरा: कहते है कि भगवान को किसी ने देखा नहीं पर धरती पर भगवान का दूसरा दर्जा हमारे चिकित्सको को मिला हुआ है इसलिए डाक्टरों को धरती के भगवान के उपनाम से भी जाना जाता है पर ये क्या धरती के भगवान आज देश भर मे सरकारी नीतियों के खिलाफ हड़ताल पर रहे। आगरा में भी सभी प्राइवेट नर्सिंग होम, अस्पताल, पैथोलॉजी, रेडियो डायग्नोस्टिक सेंटर बंद रहे। चिकित्सा क्षेत्र में सरकार की नीतियों के खिलाफ अपनी आवाज सरकार पहुंचाने के लिए देशभर से लगभग 10 हजार डॉक्टर दिल्ली राजघाट पर सुबह 8 बजे एकत्र हुए। यहां आगरा के 200 डॉक्टरों ने प्रतिनिधित्व किया। उसके उपरान्त इंदिया गांधी इंटोर स्टेडियम में सभा का आयोजन किया गया।

आगरा के डॉक्टर्स 
आगरा में सुबह तोता का ताल स्थित आईएमए भवन पर दिल्ली इंदिरा गांधी इंटोर स्टेडियम में आयोजित सभा का लाइव टेलीकास्ट किया गया। इसके उपरान्त यहां मौजूद लगभग 300 डॉक्टरों ने सभा का आयोजन किया। आगरा आईएमए अध्यक्ष डॉ. आरएस कपूर ने कहा कि सरकार के सामने हम अपनी मांगे कई बार रख चुके हैं। लेकिन हर बार आश्वासन ही मिला। मजबूरी में आज देश भर के डॉक्टरों को सड़कों पर उतरना पड़ा। आईएमए सचिव डॉ. मुकेश गोयल ने कहा कि हमारा यह आंदोलन मील का पत्थर साबित होगा। डॉ. मुनीश्वपर गुप्ता ने भी विचार व्यक्त किए। सके उपरान्त दोपहर 3 बजे आईएमए मैम्बर जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपने के लिए कलक्ट्रेट पहुंचे। जहां जिलाधिकारी गौरव दयाल की अनुपस्थिति में एडीएम एग्ज्यूकेटिव को प्रधानमंत्री के नाम अपनी मांगों का ज्ञापन सौंपा। शाम सात बजे सभी डॉक्टर शहीद स्मारक पर एकत्र हुए। जहां सरकारी नितियों के विरोध में कैंडल मार्च कर सभा सम्बोधित की गई। इस अवसर पर आईएमए कोषाध्यक्ष डॉ. मुकेश मित्तल, डॉ. संदीप अग्रवाल, डॉ. वीके खंडेलवाल, डॉ. अजय बंसल, डॉ. मनोज सिंघल, डॉ. पंकज नगायच, डॉ. पवन गुप्ता, डॉ. वीएन कौशल, डॉ. आलोक मित्तल, डॉ. सुधीर धाकरे, डॉ. विवेकानंद आदि मौजूद थे।  

No comments