Display bannar

Breaking News

‘मेरी हानिकारक बीवी’ टीवी शो के कलाकारो ने ताजनगरी मे किया प्रोमोशन


आगरा : आज ताजनगरी आगरा मे ‘मेरी हानिकारक बीवी’ टीवी शो के कलाकारो ने ताजनगरी मे प्रोमोशन किया| मर्दानगी को हमेशा माचो, गठीला, सख्त, ताकतवर और शक्तिशाली जैसे शब्दों से जोड़ा जाता है। इसके अलावा, फिल्मों में भी पुरुषों को महिमा मंडित किया जाता है, जैसे कि इस प्रसिद्ध डायलॉग के साथ, ‘मर्द को कभी दर्द नहीं होता’। इसलिये, यदि कोई पुरुष किसी तरह की कमजोरी या दोष दिखाता है तो उन्हें शर्मिंदा होना पड़ता है और उन्हें आसानी से लोग स्वीकार नहीं करते। उस दकिया नूसी सोच को पीछे छोड़ते हुए, -ज्ट एक हल्की-फुलकी कॉमेडी ‘मेरी हानिकारक बीवी’ पेश कर रहा है। इस शो में बताया गया है कि पुरुष होने का अर्थ केवल अपना अधिकार जमाना या परिवार की विरासत का फायदा उठाना नहीं है, बल्कि उससे कहीं ज्यादा है। इस शो में घर के उत्तराधिकारी को जन्म देने से जुड़े कई सारे सामाजिक दबावों को दिखाया जायेगा और जिनका प्रभाव एक पुरुष पर पड़ता है, जो गर्भनिरोधक के तरीके नसबंदी का गलत शिकार बन जाता है। ‘मेरी हानिकारक बीवी’ में जीवन के विविध रंगों को, अखिलेश (करण सूचक) और डॉ. इरा (जिया शंकर) जैसे किरदारों के माध्यम से प्रस्तुत किया गया है।

अपने किरदार के बारे में बताते हुए, करण सूचक उर्फ अखिलेश ने कहा, ‘‘यूं तो मनोरंजन जगत में तेजी से बदलाव हो रहे हैं और रूढि़वाद को भी तोड़ा जा रहा है। लेकिन नसबंदी एक ऐसा विषय है, जिसके बारे में आज तक नहीं सोचा गया, क्योंकि टेलीविजन शो के रूपमें ये कांसेप्ट व्यवहारिक नहीं था। ‘मेरी हानिकारक बीवी’ की कहानी और मेरे किरदार के इतने सारे रंगों ने मुझे आकर्षित किया। अखिलेश वाराणसी का रहने वाला एक शर्मीला, साधारण, सीधी बात कहने वाला और ईमानदार लड़का है, जो अपने माता-पिता का सच्चा भक्त है, लेकिन उसका दुर्भाग्य इसमें जुड़ जाता है। उसके माता-पिता उससे जिस एक चीज की सबसे ज्यादा इच्छा रखते हैं, वो है घर का वारिस देने की, जिसेवो पूरा कभी नहीं कर सकता! मुझे उम्मीद है कि इस के अंदर छुपे गहरे संदेश को वो स्थान मिलेगा और भारतीय दर्शकों की मानसिकता में बदलाव आयेगा।’’

अपने किरदार के बारे में बताते हुए, जिया शंकर कहती हैं, ‘‘डॉ. इरा एक सख्त, व्यवहारिक और समझदार महिला है, जो दिल की बड़ी नर्म है। सामाजिक मुद्दों जैसे जनसंख्या नियंत्रण को लेकर उसकी सोच बहुत दृढ़ है। अचानक उसकी जिंदगी में एक बहुत बड़ा बदलाव आ जाता है, क्योंकि वो अपनी जिंदगी के सफर की शुरुआत अखिलेश के साथ करती है। ‘मेरी हानिकारक बीवी’ का विषय काफी बोल्ड है और मानसिकता बदल ने के लिये हमारे प्रयासों को दर्शक किस तरह लेते हैं, उसका मुझे बेसब्री से इंतजार है। ये शो और इसको लेकर -ज्ट का जो नजरिया है, उससे निश्चित रूप से बातचीत में हिचक की वो दीवार टूटेगी और दर्शकों का भरपूर मनोरंजन होगा। इस शो में एक गंभीर विषय की कॉमेडी के साथ गहराई से पड़ताल की गई है।‘‘

No comments