Display bannar

Breaking News

दिल थाम कर देखे रंजीत अखाड़े के 3 साल के बच्चे का ये हैरतअंगेज प्रदर्शन... विडियो मे



आगरा : आज रंजीत अखाड़ा मे संत बाबा प्रीतम सिंह की अगुवाई में पूरे जोश के साथ भले 3 वर्ष का बच्चा हो या 65 वर्ष के जवांज या किसी भी उम्र के हो पुरातन युद्ध कला के प्रदर्शन करने के लिए आतुर बैठे थे यह नज़ारा था गुरुद्वारा गुरु के ताल का जहा 17 दिसंबर को आगरा में श्री गुरु सिंह सभा माईथान के तत्वाधान में निकाले जा रहे नगर कीर्तन के लिए अभ्यास हो रहा था । ढाल तलवार ,ढाल कटार ,भाले ,सेफ (वो शस्त्र जो बहादुर शाह ने गुरु गोविंद साहिब जी को भेट किया था ) गुर्ज ,दांग लाटू ,किरच ,कुहाडी एक के बाद एक लगभग 150 से 250 के बीच में शस्त्रो का अभ्यास किया गया ।

सिक्ख समाज में गतका पहली बार गुरु गुरु नानक देव जी ने शुरू करवाया । उनसे बाबा बुड्डा जी ने यह परम्परा को आगे बढ़ाया । बाबा बुड्डा जी ने अपने शिष्य गुरु हरगोविंद साहिब पातीशाह को शस्त्र बिद्या दी । उस वक़्त जुल्म काफी बढ़ चुका था । तब से हर गुरु ने शस्त्र विद्या पर भी जोर दिया । संत सिपाही रणजीत अखाड़ा में लगभग 20 से 25 लोग शामिल है।


आपको बता दे, आगरा में गुरुद्वारा गुरु के ताल पर संत साधू सिंह मोनी ने इस विद्या को आगे बढ़ाया जिसका निर्वाहन अब बाबा प्रीतम सिंह जी कर रहे है । 

ये रहे मौजूद 
मास्टर गुरनाम सिंह, भाई रणजीत सिंह, बन्टी ग्रोवर, कंवलदीप सिंह, मीत प्रधान पाली सेठी, कुलविंदर सिंह, परमात्मा सिंह, हरमिंदर सिंह, विजय सामा, गोल्डी अहलूवालिया


दोस्तो, अगर आपको हमारी न्यूज़ पसंद आई है तो पोस्ट को LIKE या BIGG PAGES को Followजरूर करे और आप हमसे Whatsaap पर सबसे पहले खबरे पाने के लिए हमे NEWS लिखकर 9808626265 पर Msg करे|