Display bannar

Breaking News

दवा व्यापारी बोले सरकार का फूड लाइसेंस की अनिवार्यता करना गलत


आगरा : आज आगरा महानगर कैमिस्ट एसोसिएशन द्वारा न्यू शाहगंज स्थित श्रीकृष्ण गौशाला में दवा व्यापारियों की समस्याओं के निदान के लिए सोमवार को विशाल संगोष्ठी आयोजित की गई। संगोष्ठी में आगरा भर से मौजूद 600 से अधिक थोक व फुटकर दवा व्यापारियों को संबोधित करते हुए ऑल इंडिया कैमिस्ट एंड डिस्ट्रीब्यूटर्स फेडरेशन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष संजय मेहरोत्रा ने कहा कि हमारे दवा व्यापारी मानव सेवा व जीवनरक्षा के लिए सदैव तत्पर रहते हैं। इसीलिए सरकार के साथ हम सबकी भी यहां मंशा है कि दवाएं अप्रशिक्षित हाथों से नहीं बिकनी चाहिए। 

आपको बता दे कि चार माह की अवधि के इस कोर्स में डिप्लोमा फार्मेसी वाले ही सारे विषय दवा व्यापारी को पढाए जाते हैं। कानपुर में 120 दवा व्यापारी यह कोर्स कर चुके हैं। संगठन द्वारा प्रदेश भर में जागरूकता का कार्य किया जा रहा है। जब प्रदेश के अधिकांश दवा व्यापारी यह कोर्स कर लेंगे तब पढाई व अनुभव के आधार पर सरकार से संगठन द्वारा इनको बिजनेस फार्मासिस्ट की मान्यता प्रदान कर, बिना अलग से कोई फार्मासिस्ट रखे व्यापार चलाने देने की मांग की जाएगी। 

दावा व्यापारियो का कहना है कि दवाएं सारी सील पैक्ड आती हैं अतः इनसे फूड लाइसेंस की अनिवार्यता समाप्त होनी चाहिए। जब तक सरकार इसे खत्म नहीं कर पा रही, तब तक शासन प्रशासन द्वारा संगठन के सहयोग से फूड लाइसेंस के शिविर जगह-जगह लगाने चाहिए, ताकि व्यापारी का उत्पीडन न हो। उसे आसानी रहे। 

ये रहे मौजूद 
आशीष ब्रहमभटट, शशि शंकर शर्मा, सुमित पाहवा, नंद किशोर ओझा, प्रमोद गुप्ता, राजेंद्र सैनी, गिरधारी लाल भगत्यानी, आशीष शर्मा, डा आशीष ब्रहमभटट, राज नरेश, अजीत दुबे, प्रभात सिंह, अश्विनी श्रीवास्तव, अमित कुमार, राजकुमार गुप्ता, विमल स्वरूप सिंह, नरेंद्र पंजवानी, मोहित आहूजा 

No comments