Display bannar

Breaking News

मेरा कोई न सहारा बिन तेरे, नंदलाल सवारिया मेरे


आगरा : श्रीमद्भागवत कथा व्यक्ति को चिंतामुक्त रखती है। श्रीठाकुर जी की कथा हरि इच्छा और कृपा से ही सुनी जा सकती है। जिस तरह जनता के द्वारा चुने गए प्रतिनिधि विधानसभा में बैठते हैं ठीक उसी तरह द्वारकाधीश द्वारा चुने गए लोग ही श्रीमद्भागवत की कथा में बैठते हैं। ये कहना था बुर्जीवाले मंदिर पर चल रही कथा मे व्यासपीठ से पं. राजेश शास्त्री का | प्रताप नगर स्थित श्री संकटमोचन हनुमान मंदिर (बुर्जीवाला) पर में श्रीमद्भागवत कथा मे दूसरे दिन मंगलवार को कपिलोपाख्यन, धुर्व-चरित्र और जड़भरत चरित का वर्णन किया गया | भागवत कथा सुनने के लिए पुरुषो की अपेक्षा महिला श्रोताओ मे भक्ति का उत्साह अधिक देखने को मिला | व्यास पं. राजेश शास्त्री के कथावचन के दौरान पूरा मंदिर प्रांगण जय श्री राधे के जयकारों से गुंजायमान हो उठा। कथा के मुख्य यजमान विजय बंसल एंव सुनीता बंसल रहे, वही दैनिक यजमान कन्हैया लाल रहे| भागवत कथा के दूसरे दिन कथा व्यास पं. राजेश शास्त्री के मुखारविंद से ''मेरा कोई न सहारा बिन तेरे, नंदलाल सवारिया मेरे" भजन से कथा स्थल का वातावरण भक्ति मे सराबोर हो गया|












भगवान का स्मरण करने से छूट जाती है शरीर की मोह माया : पं. राजेश शास्त्री
व्यास पं. राजेश शास्त्री ने बताया कि जीवन में सुख-दुख और लाभ-हानि से ऊपर उठ कर जो व्यक्ति दूसरों के लिए जीता है उसके जीने का मार्ग ही सही है। भगवान की कथा में अमृत है और उसे भाव से सुनना चाहिए। भगवान का भजन और स्मरण करने से शरीर की मोह माया छूट जाती है और आत्मा को जीवन-मरण के चक्र से मुक्ति मिल जाती है। भागवत कथा का आयोजन बुर्जी वाले मंदिर संचालन समिति द्वारा कराया जा रहा है जो कि 27 मई तक दोपहर 3 से शाम 6 बजे तक चलेगी। इस अवसर पर मुख्य रूप से पूनम अग्रवाल, निधि बंसल, शिल्पी गोयल, ब्रज मोहन बंसल, गौरव बंसल, संदीप गोयल, अजय गोयल, अनूप अग्रवाल, ब्रज बिहारी उर्फ अज्जू भाई, नरेंद्र पुरुसनानी उर्फ जेठा भाई, दिवाकर महाजन, नरेश जिंदल, बबलू बंसल, सतीश अग्रवाल, प्रदीप गंगवार, मनोज मंगल, भरत गर्ग, महेश पंडित आदि का सहयोग रहा|

भागवत कथा मे आज 
मीडिया प्रभारी विमल कुमार ने बताया कि तीसरे दिन बुधवार को बलि-वामन प्रसंग, मोहिनी अवतार एंव प्रहलाद चरित्र की कथा का वर्णन किया जाएगा| भागवत कथा निरंतर 27 मई तक दोपहर 3 से शाम 6 बजे तक चलेगी। कथा के समापन पर भक्तों को भोजन प्रसादी वितरित की जाएगी|

No comments