Display bannar

Breaking News

बचपन की यादें है भुलाई थोडाई जाती है...


आगरा : मेय आई गो टू टॉयलेट, मेम मेय आई कम इन, प्लीज पिकनिक चलो ना जैसी बातों से माहौल था वैचारिक जागरण मिशन ट्रस्ट द्वारा आयोजित बाल दिवस समारोह का। जिसमें सभी महिलाएं 10 से 15 साल की बच्चों का गेट अप रख कर आई थी। उन्होंने अपने बचपन के रोचक किस्से बताकर यादें ताजा की । जिसमें वेस्ट गेट अप व वेस्ट अनुभव के लिए महिलाओं को पुरस्कृत किया। इसके पश्चात बचपन की यादों वाली जेम खेले। अक्कड़ बक्कड़ बंबे बोल, आटे बाटे दही चटाके, पोसम पा भाई पोशाम पा, नीली पीली साड़ी, चक चक पल्ले घर मंगनी जैसे गेम खेलकर बचपन की यादें ताजा की। कार्यक्रम की शुरुआत  ट्रस्ट की अध्यक्ष प्रतिभा जिंदल व सचिव दीपक अग्रवाल ने गणेश प्रतिमा के समक्ष दीप जलाकर की ।इस अवसर पर कोषाध्यक्ष स्वीटी गोयल, उपाध्यक्ष अनीता मित्तल, खुशबू अग्रवाल आदि ने व्यवस्था संभाली । श्वेता चंचल मेघा आशा अग्रवाल मनीषा मनीषा रश्मि मीनाक्षी निशा रजनी अंजली सुमन आदि बच्चों के वेश में आई।

No comments