Display bannar

Breaking News

वर्षो से सोया हुआ है शिक्षा विभाग.... लगातार कर रहा गरीब बच्चो के भविष्य से खिलवाड़


आगरा : एक तरफ तो सरकार प्राथमिकता में शिक्षा देने का दावा कर रही है वही दूसरी और उनके ही अधिकारी उनकी योजनाओ को पलीता लगाते नज़र आ रहे है और ये एक वर्ष की बात नहीं है लगातार तीसरे वर्ष ऐसा हो रहा है की शिक्षा के अधिकार अधिनियम 2009 के अंतर्गत शिक्षा पाने वाले गरीब बच्चे और शिक्षा देने वाले कान्वेंट स्कूलों को मिलने वाले अनुदान राशि से आगरा का शिक्षा विभाग अनुदान राशि देने में कर रहा है खिलवाड़| विगत 31 मार्च 2018 को तीन करोड़ छियालीस लाख धनराशि सरकार को वापस  की |  यहाँ तक की तीसरी बार स्कूलों  को उनकी टूशन  फीस तक नहीं मिली है |

बच्चो को शिक्षा में कॉपी, किताब व ड्रेस के लिए अनुदान राशि पांच हज़ार रुपया उनके बैंक खाते में दिया जाता है पर अब ऐसा आगरा के शिक्षा विभाग के सोये होने की वजह से नहीं मिल पा रहा है | इससे गरीब बच्चो के परिजनों के ऊपर आर्थिक संकट गहरा रहा है | गरीब बच्चो के माँ बाप सरकारी दफ्तरों व बैंको के चक्कर लगा-लगा कर पश्त हो चुके है | 

नगर शिक्षा अधिकारी नीलम सिंह ने बताया कि लगातार शासन को पत्राचार के माध्यम से मामलाअवगत कराया जा रहा है |  धनराशि प्राप्त होते ही सम्बंधित खातों में ट्रांसफर कर दी जाएगी| 

अप्सा के अध्यक्ष सुशील गुप्ता का कहना है कि पिछले तीन सत्रों से शिक्षा विभाग से टूशन फीस स्कूलों को नहीं मिली है | लगातार शिक्षा विभाग से लेकर शासन तक अवगत कराया जा रहा है |  

आरटीई एक्सपर्ट धनवान गुप्ता ने बताया कि शिक्षा विभाग ही शिक्षा के अधिकार को फेल करने में लगा है|


No comments