Display bannar

Breaking News

खंडेलवाल बनाम अग्रवाल होने से गठबंधन प्रत्याशी की बढ़ी उम्मीदे.. जाने क्यों

आगरा : उप विधानसभा चुनावो में वैसे तो हर बार वैश्य मतदाता भाजपा प्रत्याशी के पक्ष्य में ही मतदान करता है परन्तु इस बार भाजपा द्वारा अग्रवाल प्रत्याशी की जगह खंडेलवाल प्रत्याशी पर दांव खेला है | भाजपा में वैश्य बाहुल्य कही जाने वाली उत्तरी विधानसभा सीट इस बार भाजपा के लिए कांटों का ताज बन गई है और यह सीट बीजेपी के हाथों से फिसल कर सूरज शर्मा के खाते में आती हुई नजर आ रही है। उत्तर विधानसभा पर पिछले पांच दशक से वैश्य समाज में अग्रवालो का इस पर कब्ज़ा रहा है | इस बार भाजपा द्वारा खंडेलवाल प्रत्याशी उतारने से कही न कही अग्रवाल समाज में रोष व्याप्त है | आगरा के उत्तर क्षेत्र में महज 900 मतदाता खंडेलवाल है वही अग्रवालो की संख्या डेढ़ लाख के पार है | भाजपा की टिकिट अग्रवाल समाज के व्यक्ति को न मिलने से रुष्ट हो कर अगर अग्रवाल समाज गठबंधन प्रत्याशी सूरज शर्मा को मतदान करेगा या फिर नोटा पर अपनी चोट करेगा तो दोनों में ही सपा बसपा रालोद प्रत्याशी सूरज शर्मा को ही इस से फायदा होता नज़र आ रहा है | 

सोशल मीडिया पर भी चल रही अग्रवाल बनाम खंडेलवाल की जंग 

फेसबुक पर भी खंडेलवाल समाज के एक व्यक्ति द्वारा भड़काऊ पोस्ट की गयी है जिसे अग्रवाल मतदाताऔ ने आक्रोशित हो कर कड़ी कारवाही की मांग की है | इस सम्बन्ध में विधायक महेश गोयल द्वारा लोहामंडी में एक बैठक भी शुक्रवार को आयोजित कर सभी को शांत किया गया परन्तु अब भी व्हाट्सएप पर अपने करीबियों को विवादित पोस्ट भेजी जा रही है|भाजपा प्रत्याशी परुषोतम खंडेलवाल ने इस पर कहा की ये चुनाव में फ़िज़ा ख़राब करने का प्रयास किया था और हमने सबको मना लिया है। वही गठबंधन प्रत्याशी सूरज शर्मा का कहना है कि ये भड़काऊ पोस्ट भाजपा के ही कार्यकर्त्ता द्वारा की गयी है | जो भाजपा जात पात की राजनीति न करने की बात करती है आज उसकी कलई खुलती नज़र आ रही है।

वैश्य बाहुल्य क्षेत्र में ब्राह्मण प्रत्याशी मार रहा सेंध 

वैश्य बाहुल्य मानी जाती रही इस सीट पर कुल 4,09,346 मतदाता हैं, जिसमें 2,23,135 पुरुष और 1,86,187 महिला मतदाता है। इस उपचुनाव में कुल 12 उम्मीदवार चुनाव मैदान में है जिसमें भाजपा के पुरुषोतम खंडेलवाल, कांग्रेस के रणवीर शर्मा और सपा-बसपा गठबंधन के उम्मीदवार सूरज शर्मा के बीच मुख्य मुकाबला है। अगर सूत्रों की मानी जाए तो गठबंधन प्रत्याशी सूरज शर्मा भाजपा को जबरदस्त टक्कर दे रहे है। सूरज शर्मा पूर्व विधायक मधुसूदन के बेटे हैं और विदेश से शिक्षा ग्रहण कर लौटे हैं। पहली बार चुनाव लड़ रहे इस युवा और सुशिक्षित प्रत्याशी सूरज शर्मा को जनता का भरपूर सहयोग और आशीर्वाद मिल रहा है। जिससे विरोधियों की चिंता बढ़ गयी है।

No comments